whatsapp status in Hindi

whatsapp status in Hindi

  1. यदि बचपन की कोई अधूरी हरकत दशकों बाद पूर्ण हो जाती है तो यह खुशी को बयां नहीं किया जा सकता।
  2. बिना परिश्रम के इस जीवन में कुछ प्राप्ति नहीं होती, सपने देखे और उसे हकीकत में बदल दे, मजबूत इच्छाशक्ति के साथ कड़ी मेहनत करते रहे।
  3. असफल होने पर भयभीत मत हो यह सोचे कि गलती कहा हुई और इससे उसका सुधार कर दोबारा आगे बढ़ा जा सके।
  4. मनुष्य को अपने जीवन बदलने के लिए बुरे लोगों से लड़ना पड़ता है, आसान करने के लिए उन्हें समझाना पड़ता है।
  5. अपना दर्द सभी लोग जल्द महसूस कर लेते है, मायने तब रखता है जब इंसान दूसरों का दर्द महसूस कर लेता है।
  6. जीवन के इस खेल में जो लोग टूटते हैं बिखरते हैं वही इंसान विपत्ति आने पर निखरते है।
  7. गरीब व्यक्ति को सिर्फ धन की आवश्यकता होती है सम्मान से मतलब नहीं, मध्यम वर्ग को धन व इज्जत की और अमीर को सिर्फ सम्मान की।
  8. धन दौलत आप के रहन-सहन का स्तर बदल सकती है, लेकिन आपकी बुद्धि व तकदीर से ईश्वर ही बदल सकता है।
  9. किसी की अच्छाई के लिए यदि आपको दो कदम पीछे क्यों ना लेने पड़े तो लीजिए
    अपना फायदा तो सब लोग सोचते जो दूसरों का फायदा सोच सके वही इंसान सफलता योग बनता है।
  10. जिंदगी में अपनेपन का वृक्ष लगाने से पहले यह देख लेना क्या मिट्टी रूपी शरीर में अपनेपन की खुशबू है।
  11. जीवन में सब कुछ मिल जाएगा तो तमन्ना किस बात की, कुछ अधूरी तमन्ना भी जीने में मजा देती है।
  12. इस संसार में हर मनुष्य को अपने ज्ञान का घमंड होता है, पर दुख इस बात का होता है कि उसको अपने घमंड का ज्ञान नहीं होता।
  13. उन ख्वाबों का क्या जो आते जाते रहते हैं, इलाज तो यादों का होना चाहिए।
  14. शांत दिमाग और शक्ति से भरा हृदय यह दोनों ही सारी जीवन की उलझन मिटाने में निपुण होते हैं।
  15. पैसा घर का मेहमान है, मधुर वाणी घर की धन दौलत है, व्यवस्था घर कि शोभा है व इंसानियत घर की तिजोरी है।
  16. जिंदगी के उतार-चढ़ाव के बाद भी जो व्यक्ति आपके साथ ना छोड़े वह व्यक्ति आप का सबसे बड़ा शुभचिंतक होता है उसकी इज्जत करनी चाहिए।
  17. वर्तमान में प्रत्येक व्यक्ति एक दूसरे से जरूर कहता है कि लोग उसे समझ नहीं पाते
    जबकि चिंता का विषय यह नहीं चिंता का विषय यह है की तुम खुद को पहले समझो।
  18. ईश्वर ने संसार में सबको अलग स्वभाव, अलग उद्देश, अलग आदतें दी हैं लेकिन व्यक्ति अपने जैसे स्वभाव उद्देश आदतों वाला दूसरों में देखना चाहता है,और यही मनुष्य के दुखों का कारण भी बन जाता है।
  19. दूसरों को जानने के चक्कर में आदमी स्वयं से दूर हो जाता है, जो स्वयं में स्थित है उसे जाने बिना, खुदा को नहीं जाना जा सकता।
  20. मुस्कुराहट अंतर्मन को आनंदमई बनाने वाली अनमोल औषधि है।
  21. मनुष्य को अपने जीवन में ऐसे अच्छे कार्य करने चाहिए जिसे सिर्फ आपकी आत्मा व परमात्मा जाने।

Leave a Reply